Rahu Ke Bure Parbhav se Bachne ke free Upay

Rahu Ke Bure Parbhav se Bachne ke free Upay

राहु के बुरे प्रभाव से बचने के उपाय

लाल किताब में राहु ग्रह को कष्टकारी ग्रहण बताया गया है। राहु का असर कुंडली के बारह भाव में अलग-अलग रूप से पड़ता है। परंतु लोगों की सोच की राहु हमेशा खराब फल देता है तो यह गलत है। अगर कुंडली में राहु खराब स्थिति में है तो वह आपको हमेशा खराब फल देगा और यदि कुंडली में यह ग्रह अच्छी स्थिति में हैं तो अच्छे फल भी देता है। जैसा कि हम जानते हैं कुंडली के बारह घर व्यक्ति के संपूर्ण जीवन की यात्रा की व्याख्या करते हैं। जिसके कारण यह जानना जरूरी हो जाता है कि 12 भाव में राहु का किस प्रकार से प्रभाव होता है, और ज्योतिष की अलग-अलग शाखा जैसे के लाल किताब, केपी शास्त्र के अनुसार राहु का मानव जीवन पर क्या प्रभाव पड़ता है।

वैदिक ज्योतिष में लाल किताब अपने आसान उपायों के लिए प्रख्यात है। अधिकतर लोग उसका उपयोग अपने जीवन में करते हैं। अब बात करें राहु की तो वैदिक ज्योतिष में इसे पाप ग्रह की संज्ञा दी गई है। वास्तविकता में राहु ग्रह का भौतिक अस्तित्व कोई नहीं है परंतु चंद्र की उत्तरी और दक्षिणी गाँठो में से एक है। यह एक छाया ग्रह है। यह मिथुन राशि में उच्च का तथा धनु राशि में नीच का होता है परंतु इसे किसी भी राशि का स्वामित्व प्राप्त नहीं है।

अब बात करते हैं उपाय कि अगर राहु की वजह से आपके जीवन में कुछ परेशानियां आ रही हैं तो उन्हें किस प्रकार दूर किया जाए।

  • चाँदी का सिक्का सदैव अपने पास रखें
  • चलते दरिया (बहते हुए पानी) में राहु की वस्तुओं को बहाएँ
  • गंगा स्नान करें
  • काले कुत्ते को पालें अथवा उसे खाना खिलाएँ
  • अंधे लोगों का सहारा बनें
  • मांस-मछली एवं शराब इत्यादि मादक पदार्थों का सेवन न करें
  • भ्रष्टाचार से सदैव दूर रहें
  • निर्धन व्यक्ति की आर्थिक रूप से सहायता करें
  • लोहे का छल्ला अथवा कड़ा पहनना लाभदायक रहेगा।

राहु ग्रह शांति, मंत्र एवं उपाय

वेश-भूषा एवं जीवन शैली से जुड़े राहु ग्रह शांति के उपाय

  • नीले रंग के वस्त्र पहनें।
  • अपने ससुर, नाना-नानी एवं मरीज़ लोगों का सम्मान करें।
  • शराब एवं मांस का सेवन न करें।
  • कुत्तों की देखभाल करें।

विशेषतः सुबह किये जाने वाले राहु ग्रह के उपाय

  • माँ दुर्गा की पूजा करें।
  • वराह देव की आराधना करें।
  • भैरव देव की पूजा करें।
  • दुर्गा चालिसा का पाठ करें।

राहु शांति के लिये दान करें

  1. राहु की अशुभ दशा से बचने के लिये राहु ग्रह से संबंधित वस्तुओं को बुधवार के दिन राहु के नक्षत्र में शाम और रात में दान करें।
  2. दान करने वाली वस्तुएँ- जौ, सरसो, सिक्का, सात प्रकार के अनाज (जौ, तिल, चावल, साबूत मूंग, कंगुनी, चना, गेहूँ ), गोमेद रत्न, नीले अथवा भूरें रंग के कपड़े, कांच निर्मित वस्तुएँ आदि।

राहु के लिए रत्न

राहु के लिए गोमेद रत्न है। इस रत्न को धारण करने से जातकों को राहु दोष से मुक्ति मिलती है तथा जातक को बहुत अच्छे परिणाम प्राप्त होते हैं।

राहु यंत्र

जीवन में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह, वैभव वृद्धि, अचानक आने वाली बाधाओं और बीमारियों से बचने के लिए राहु यंत्र का पूजन करें। राहु यंत्र को बुधवार के दिन राहु के नक्षत्र में धारण करें।

राहु ग्रह के लिये जड़ी

राहु ग्रह के दुष्प्रभाव से बचने के लिए बुधवार के दिन नागरमोथा की जड़ को राहु के नक्षत्र के दौरान धारण करें।

राहु के लिये रुद्राक्ष

राहु दोष निवारण के लिए 8 मुखी रुद्राक्ष धारण करना लाभदायक होता है।
आठ मुखी रुद्राक्ष धारण करने हेतु मंत्र:
ॐ हूं नमः।
ॐ ह्रां ग्रीं लुं श्री।।

राहु मंत्र

राहु महादशा निवारण के लिए राहु बीज मंत्र का उच्चारण करना चाहिए। मंत्र – ॐ भ्रां भ्रीं भ्रौं सः राहवे नमः!

राहु मंत्र का 18000 बार जाप करें जबकि देश-काल-पात्र पद्धति के अनुसार कलयुग में इस मंत्र को अधिकतम 72000 बार जपना चाहिए।

आप इस मंत्र का भी जाप कर सकते हैं – ॐ रां राहवे नमः!

राहु ग्रह शांति के उपाय करने से जातकों को राहु दोष से मुक्ति मिलती है। राहु एक छाया ग्रह है, जिसका कोई भौतिक रूप नहीं है। हिन्दू शास्त्रो के अनुसार राहु ग्रह भगवान भैरव देव का प्रतिनिधित्व करता है। वहीं ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, राहु को एक पापी ग्रह माना गया है। इसके प्रभाव से जातकों को कई प्रकार की बाधाओं का सामना करना पड़ता है। हालाँकि यह जातकों को शुभ और अशुभ दोनों ही परिणाम देता है। परंतु इसके अशुभ परिणामों से बचने के लिए राहु मंत्र का विधि अनुसार जाप करना चाहिए।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार राहु और केतु के कारण कुंडली में काल सर्प दोष उत्पन्न होता है। इस दोष से बचने के लिए राहु शांति के उपाय कारगर हैं। राहु यंत्र की स्थापना तथा उसकी आराधना करने से जातकों को शिक्षा, व्यवसाय, कैरियर में आ रही परेशानियाँ दूर होती हैं। राहु दोष के उपाय छिपे हुए शत्रुओं, गुप्त रूप से आ रही बाधाओं, छल- कपट, गुप्त रोगों, सामाजिक असम्मान और भेदभाव से बचाता है।

हम यह आशा करते हैं कि राहु ग्रह शांति मंत्र एवं उपाय से संबंधित यह लेख आपके लिए लाभकारी एवं ज्ञानवर्धक सिद्ध होगा|

Click Here to follow US on Instagram for daily vastu and astrology tips.

For More Information click here to consult our expert vastu consultant or click on the link below.

Talk to Astrologer for Rs.299 Only

About rashiastro

Check Also

free jupiter remedies

Free Jupiter Remedies for 12 Houses

Free Jupiter Remedies These are the Jupiter Remedies according to the placements of Jupiter in …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *